Posts

12th Topper list chhattisgarh 2019 12वीं टॉपर्स लिस्ट 2019 छत्तीसगढ़

Image

DIG SP CONNECTOR SDM MLA आलोक चतुर्वेदी नपाध्यक्ष अर्चना सिंह ललता यादव ...

Image

Selfy jimmedari ki | Matdan meri jimmedari mene to apna kam kar diya |

Image

खजुराहो संसदीय सीट के युवाओं का प्रमुख मुद्दा क्या ? देखिए उनसे सीधी चर्...

Image

राजनगर की जनता के मुख्य मुद्दों की कहानी जनता की जुबानी | कौन कितना जमीन...

Image

सामने|बसपा के विनोद पटेल खजुराहो से सपा प्रत्याशी वीरसिंह पटेल के समर्थन...

Image

विधानसभा के हार के कारण आपसी मतभेद को मिटा कर लोकसभा में उतरी है भाजपा-श...

Image

बच्चों का हुनर देखकर देखते रह जायेंगे आप। रामनवमीं पर मलखंभ का प्रदर्शन ...

Image
जाती और धर्म की आंधी.. कुछ मंद हो जाए,
घटित हो कुछ यहां ऐसा... कि फिर आनंद हो जाए, मिटे सब वैर मन का और मधुर संबंध हो जाए, मेरा-तेरा तेरा-मेरा सब बन्द हो जाए, हे वीणावादनी कुछ शब्द दो ऐसे कि गद्य भी अब छंद हो जाए, काश ये मेरा मुक़म्मल बंध हो जाए, कुछ कृपा करो ऐसी मेरे यीशु, मेरे भगवन, मेरे अल्लाह, मेरे दाता.. की हर युवा सभल करके विवेकानंद हो जाए।।

मुझे चढ़ गया भगवा रंग रंग Mujhe chad gaya bhagavan rang|whatsapp status|N...

Image

कोई दीवाना कहता है कोई पागल समझता है Koi divana kahata he |NANDAN |नन्दन|

Image

holi special |देह रंगेगी, चहरे पर रंग डाला जाएगा | होली पर नई कविता/ नं...

Image

मोदी जी सेना को इतना मत रोको की सैनिक ही बागी हो जाए | NANDKISHOR PATEL ...

Image

तुमने सिंहों को बेड़ी पहना के रक्खा है क्यों जंग लगा के रक्खा है|पुलवामा|...

Image

राम-रावण संवाद प्राचीन व आधुनिक|मैं रावण न होता तो पूजे भगवन तुम भी न जा...

Image

राम-रावण संवाद, अगर रावण न होता तो पूजे भगवन तुम भी न जाते। by - नंदकिशोर पटेल "नन्दन"

Image
रावण कहता हैअगर मैं रावण न होता तो पूजे भगवन तुम भी न जाते, अगर मै जन्मा न होता तो तुम भगवन होकर भी पृथ्वी पर जन्म नहीं पाते,
अगर लक्ष्मण जैसा भाई न होता तो तुम लंका जीत नहीं पाते, अगर मेरे अपने मेरा भेद नहीं बताते कास..विभीषण भइया लक्ष्मण हो जाते हाँ ! मै जीत नहीं पाता पर तीन लोक के स्वामी मुझे हरा नहीं पाते न मै सीता हरता न तुम लंका को आते, अगर रघुनंदन की न किरपा होती जो, तो इस भव-सागर से हम पार नहीं पाते, जो भगवन ने न तारा होता तो हम वैकुण्ड भला कैसे जा पाते, 👇👇👂👂राम जी कहते हैं👂👂👇👇
मैने तो तेरे सभी अधर्मों को मारा था, तुझमे वास किये थे जो उन पापों को संघारा था, मर कर भी तुम अमर रहे और स्वयं हरि तूमसे हार गये, तुम जैसा कोई वाली नहीं था न तेरे जैसा शिव-ध्यानी..... तीन लोक में न कोई तुम सा ज्ञानी... हे लंकापति तूँ भी मारा न जाता....तूँ जिन्हें जानता था सन्यासी, जोगी वस्त्र किये धारण भटक रहे वनवासी...वो स्वामी थे वैकुंड के वासी... तूँ जिन्हें हर कर ले गया महल में वो तीन लोक की जननी थीं... फिर भी अगर तूँ आता करने वन्दन शरण हमारी तो छोड़ तुझे देते इसे मान तेरी नादानी.... तुझे मतिभ्रष्टी कहदूँ या त…

जीवन के कुछ अनुभव भाग 2 | माँ का आँचल | बचपन | नन्दकिशोर पटेल "नन्दन"

Image

जीवन के कुछ अनुभव भाग 1 | मन को बहलाती बातों से यहाँ हर कोई अपना-अपना कहता है | NANDKISHOR PATEL "NANDAN"

Image

बहन | रक्षाबंधन स्पेशल | मन करता है बहना तुझपे कोई गीत लिखूँ | NANDKISHO...

Image

बेटी पर कविता | poem on Beti | मैंने बेटी में कुछ अद्भुत देखा है | nandk...

Image

व्यंग - सभ्यता और आज-कल के रिश्ते | माँ-बाप और बेटी | नंदकिशोर पटेल (नन्दन) | vyang - sabhyata or aaj-kal ke rishte | maa-baap or beti | By- Nandkishor patel (NANDAN)

Image
व्यंग - सभ्यता और आज-कल के रिश्ते  | नंदकिशोर पटेल ( नन्दन )           1 -   माँ-बाप और बेटीआज के समय में रिश्ते और समाज के बीच बहुत ही खींचा तानी चलती है ऐसे में हमे चाहिए की हम अपने रिश्तो को हर तरह से मजबूत बनाये और समझने का प्रयास करें न की अपनों पर प्रतिघात या उन्हें तोड़ने का सोचें। आज हर माँ-बाप अपनी बेटी को लेकर चिंतित हैं, उनके मन में हर पल एक डर रहता है कही कुछ हो न जाये, हमारी बेटी के साथ कोई कुछ गलत न कर दे ? बेटी किसी के साथ गलत तो नही कर रही? कही गलत रास्ते पर तो नही जा रही? इज्ज़त से? बगैरा- बगैरा । ऐसे बहुत सवाल होते हैं। शायद सही है! आज समय ही ऐसा है लेकिन ऐसे में कई बार माँ-बाप का ज्यादा शक करना भी बेटी को अंदर ही अंदर घुटन देने लगता है, जब बो कुछ गलत नही करती और उसे बार बार ताने दिए जाने लगते है और फिर वो कई बार इसे सहन नहीं कर पाती और मौत को गले लगा लेती है, और फिर ये पूरी जिंदगी पक्षताने को हो जाता है।  इसलिये हर माँ-बाप को चाहिए की वो अपनी बेटी को समझे और उसे समझते रहें की बेटी ये सही है ये गलत है। क्योंकि ऐसे में उसे हमेशा ये भरोसा रहता है की उसके माँ-बाप उसके साथ हैं।

यादें बचपन की...| (चल फिर बच्चे बन जाते हैं) | yadain | yade bachapan ki hindi poem... By - Nandkishor Patel (नन्दन))

चल फिर बच्चे बन जाते हैं, चल फिर बच्चे बन जाते हैं.... भूल यहां कीं चिंताएँ सारी, चल फिर खेलन जाते हैं,  बिन-लये, बिन-ताल पुराने गीत वही हम गाते हैं, आ फिरसे हम गाते-गाते तुतलाते हैं,  चल फिर बच्चे बन जाते हैं, चल फिर बच्चे बन जाते हैं ....|| 1 ||
चाह जवानी के लालच में, बचपन भूल कहीं हम जाते हैं, और कमाने की चाहत में, इसको भी छोड़ यहीं हम जाते हैं, उमर होती है 55 की, और एक कहानी आधी रह जाती है, 25 में भी न कुछ कर पाये, यही जवानी कह जाती है, यादें आती हैं बचपन की, फिर नयनो से अश्क़ निकल आते हैं चल फिर बच्चे बन जाते हैं, चल फिर बच्चे बन जाते हैं ....|| 2 ||
सरकन की वो पाटी, याद बहुत अब आती है, आ फिर उस पाटी पर आज सरक कर आते हैं, ऐसे लगता माँनो  वो बगिया वो पेड़ अबभी हम बुलाते हैं, छोड़ आये थे हम जो वो कंचे मैदानों में, आ चलकर अब उन कंचों में चोट लगते हैं, चल फिर बच्चे बन जाते हैं, चल फिर बच्चे बन जाते हैं ....|| 3 ||
जो कल किलकारी से गूँजा करतीं थीं, अब वीरान पड़ी हैं वो गलियां, आ चलकर खेलें गिल्ली-डंडा, फिर इन गलियों में शोर मचाते हैं, आ मेरे घर पर सब मिलकर कुछ मीठा आज बनाते हैं, चल तेरे बड्डे…

माँ तो माँ होती है/ma to ma hoti he/mother's day special poem 2018 by - नंदकिशोर पटेल "नन्दन"

Image
माँ तो माँ होती है... सच में....माँ तो माँ होती है.... बिठा बिठा कर गोदी में, हर बार अलग कुछ समझती है, नक़ी कर नेकी होगी यही हमें सिखाती है, जब हम उसकी न सुनते है, अपनी इच्छा पूरी करने, माँ से लड़ते और झगड़ते हैं, वो कह-कह जब हमसे थक जाती है तब जाकर पापा के पास शिकायत जाती है, पापा हमें मारने जब-जब छड़ी उठाते हैं, तब फिर वो ही हमें बचाती है वो बच्चों के लिए सबसे लड़ जाती है...
माँ तो माँ होती है... सच में....माँ तो माँ होती है.... ||1||
बेशक़ उसने बचपन में हमें मारा होगा, डाँटा होगा, ललकारा भी होगा, पर हम शायद समझ नहीं पाते हैं, उसमें भविष्य हमारा और, माँ का प्यार छुपा होता है, इक माँ अपने बच्चों का भविष्य बनाने वो अपने दिल पर पत्थर रखकर, ये सब कर पाती है खुद से भी कई ज्यादा, बच्चों की चिंता उसे सताती है...

माँ तो माँ होती है... सच में....माँ तो माँ होती है....||2||
बच्चों को पीड़ा में कैसे देख भला वो सकती है गन्दे होने पर भी वो आँचल में, छुपा लिया करती है, माँ का ये आँचल, गर्मी में शीतलता की छाँव दिया करता है, वारिश में रेनकोट और सर्दी में, स्वेटर की तरहा महसूस हुआ करता है सच में वो पल जन्नत से …

Holi poem/आधुनिक और प्राचीन होली/ holi pic with quite/holi poem in hindi

Image
!! आधुनिक होली !! देह रंगेगी, चेहरे पर रंग डाला जायेगा, देख यहां वेइज्जत, नर-नारी के बिकते रंग को, न अब हम पर प्रभु की छाया होगी, न राधेश्याम की टोली होगी, अब चलो यहां से राधे, कृष्ण को बोलीं होगीं ! कर-कर के यहां दिखावा,  भूल सब मर्यादा को... अब लज्जा तोड़ यहां होली होगी, सभ्यताहीन यहां की बोली होगी, कोई पाने पुण्य-प्रतापों को, होली खेलन मथुरा-वृन्दावन जायेगा , कोई फ़र्क नहीं होगा, कल वृन्दावन से वापस आ, फिर वह भी असभ्य हो जायेगा !
!! प्राचीन / लेखकानुसार होली !!   करते रहो यहां दिखावा, वहाँ ये प्यार नही कहलायेगा, पावन प्यार अगर महकेगा, तो मन चंदन जैसे हो जायेगा ! आज अगर नारी राधा हो जाए.... नर मन से मोहन हो जायेगा ! तन को चाहे जिस रंग से जितना रंग लो तन रंग से कोई फर्क नहीं पड़ता....! जिस दिन पवित्रता से मन को रंग लोगे.... मन वृन्दावन हो जायेगा...!!
    By - Ã.K. Ñandkishor (Ñandan®) 📞  7000176647         ( B.H.M.S. 1st Year )          S.P.H.Medical college,        chhatarpur (m.p.)

भगवान शिव के 108 नाम Lord Shiva 108 Names in Hindi ENGLISH

Image
** Happy Maha Shivratri **

भगवान शिव के 108 नाम Lord Shiva 108 Names in Hindi ENGLISH हिन्दू धर्म में शिवजीको त्रिदेवों में एक कहा जाता है। शिवजी की कल्पना एक ऐसे देव के रूप में की जाती है जो कभी संहारक तो कभी पालक होते हैं। भस्म, नाग, मृग चर्म, रुद्राक्ष आदि भगवान शिव की वेष- भूषा व आभूषण हैं। भगवान् शिव जन्म, मृत्यु और पुनर्जन्म के इस अंतहीन चक्र के पीछे गतिशील शक्ति के रूप में है। यह भी कहा जाता है कि भगवान शिव तांत्रिक योग के गुरु, कामुकता के ज्ञाता, सन्यासी, और त्यागी लोगों के प्रभु हैं। इन्हें संहार का देव भी माना गया है। भगवान शिव, ज्योतिष शास्त्र व वारों (दिनों) के रचयिता भी हैं। भगवान शिव की उपासना मूर्ति व शिवलिंग रूप में की जाती है।                         ॐ नमः शिवाय


शिवजी भगवान,जिनकी कई विशेषताएं है। इसलिए भगवान शिवजी की विशेषताओं और उनके शक्ति के आधार पर उनके 108 नाम हैं। 



भगवान शिव के 108 नाम LORD SHIVA 108 NAMES IN HINDI ENGLISH

1.शिव - ॐ शिवाय नमः। Shiva - Om Shivaya Namah

2.श्रीकण्ठ - ॐ श्रीकण्ठाय नमः। Shrikanth - Om Shrikanthaya Namah

3.पशुपति - ॐ पशुपतये नमः। Pashupat…

वसंत पंचमी 2019

Image
वसंत पंचमी को श्रीपंचमी नाम से भी जानते हैं।  इस बार यह 10 फरवरी को मनाई जा रही है। ऐसा माना जाता है कि वसंत पंचमी के दिन ही मां सरस्वती की उत्पत्ति हुई थी। 
वसंत का महत्व
हिन्दू धर्म की मानताओं के अनुसार वसन्तोसव को प्रकृति का उत्सव कहा जाता है। जिस प्रकार यौवन हमारे जीवन का वसंत होता है उसी प्रकार वसंत को इस सम्पूर्ण सृष्टि का यौवन कहा जाता है। भगवान श्रीकृष्ण ने भागवत गीता में वसंत ऋतु को "ऋतूनां कुसुमाकर:" कहकर अपनी विभूति कहा है। शास्त्रों और पुराणों की कथाओं के अनुसार वसंत पंचमी और माँ सरस्वती की उत्पत्ति व् पूजा-अर्चना को लेकर एक बहुत ही रोचक कथा है।।
माँ सरस्वती की उत्तपत्ति कथा
जब सृष्टि में हलचल नहीं थी,सम्पूर्ण सृष्टि मौन थी, सभी जीव-जन्तु ज्ञान सम्पन्न नहीं थे, तब अशांत ब्रह्मा को नारायण भगवान ने ज्ञान दिया। तब उन्होंने अपने कमंडल से जल पृथ्वी पर छिड़का जिसके फलस्वरूप चतुभरुजी मां सरस्वती वीणा, पुस्तक और माला के साथ वर प्रदान करती प्रकट हुईं। ब्रह्मा जी के अनुरोध करने पर उन्होंने वीणा बजाया उनके वीणा बजाते ही खामोश बैठे सभी जीवों में वाणी प्रकट हो गई, ज्ञान का संग…

My thinking

*MY THINKING* मेरी सोच ने लोगों की सोच को सोच कर सोचा, तब मैं लोगों की सोच को सोच कर समझा, जब लोगो की सोच को सोच-सोच कर सोचा।।

 ✍ By - नन्दकिशोर पटेल (नंदन)

Farewell function for my teacher dr. M.I. Khan/यादें with नंदकिशोर पटेल

Image
Farewell function for my teacher
Dr. M.I.Khan.Writer:-Nandkishor Patel
         (BHMS 1st Year)


Introduction:- dr. Ishak khan का जन्म 24जून1984 को मध्यप्रदेश के टीकमगढ़ जिले में हुआ। इनकी माता का नाम- Kulsum bano (कुलसुम बानो) तथा पिता का नाम- Mohammad Yakub (मोहम्मद याकूब) है। Ishak khan सर एक बहुत ही अलग व्यक्तित्व वाले है, उनके साथ ऐसा नहीं लगता की हम किसी गंभीर व्यक्ति के साथ है, कभी फ्रेंड्स की तरह, कभी बड़े भाई की तरह कभी तो कभी माता-पिता की तरह व्यवहार किया करते थे। हाँ, पर एक शिक्षक जे दायित्वों को कभी इसके बीच नही आने दिया। उन्होंने हमेसा ही एक अच्छे गुरु की भाँति हमे हमेशा डांटे रखा और गुरु और शिष्य की रिश्ते को हमेशा बनाये रखा। उनके अंदर मुझे एक बात हमेशा शंका में रखती है की में उनके व्यवहार को शायद समझ नही पता उनके साथ ये मालूम नही होता की वो कब मजाक कर रहे है और कब गंभीर हो जाये इसका पता तो शायद ही किसी को होगा। उनकी यही बात मुझे हमेशा उनके सामने कुछ भी बोलने पर एक बार सोचने के लिए मजबूर करती थी, और शायद जब भी उनके सामने जाउगा तो करती रहेगी। सही भी ये डर मुझे हमेशा ही उनके साम…

युवाओं से आवाहन / Appeal to youth

Image
उठो-उठो हे, युवाओं.....
सबको ये बतलाना है।                                 बहुत हुआ ये भ्रष्टाचार,                                तुम्हें इसे मिटाना है।
आवाहन हे युवाओं से, अब इतिहास तुम्हें बदलना होगा।                             किया तिमिर भ्रष्टाचार ने,                        न्याय ज्योति बन तुम्हें जलना है। एक बना सम्पूर्ण राष्ट्र, तुम्हें लौह-पुरूष कहलाना है।                           उठो-उठो हे युवाओं......                     ये अन्धकार तुम्हें मिटाना है ।।1।। जड़े फैल रहीं हैं, कूटनीति कि, चहुँओर अन्धकार छाया है।                           भटक गये हैं पथ से सब,                         अब तुम्हें ही राह दिखाना है।
     उठो-उठो हे युवाओं...... ये अन्धकार तुम्हें मिटाना है ।।2।।                     राष्ट्र एकता कि ले मशाल,                         विश्व भ्रमण करना है। पड़े जरूरत जब भी रण में, वीर शिवा बन लड़ना है।                         देश रक्षा कि खातिर,                    अब तुमको जीना-मरना है। जात-पात कि तोड़ बेड़ियाँ, सबको गले लगाना है।
                         उठो-उठो हे युवाओं......  …

Rakshabandhan poem / साथ काफी है...(भाई-बहन)

Image
भाई को बहन का साथ काफी है,
         वो उसके साथ का,
   एक अनोखा एहसास काफी है..........
        एक बहन का होना ,
 भाई के दर्द में उसका सदा रोना,
        भूल जाऊँ भला कैसे?

 रिश्ता है हमेसा साथ का उससे ,
     अनूठे एहसास का उससे,
खाली पड़े इस जीवन के चित्र में,
       बहन के हाथों डाले गए,
       वो कुछ ही रंग काफी है,
  भाई को बहन का साथ काफी है,
       वो उसके साथ का,
 एक अनोखा एहसास काफी है.......||1||
      बैठने को कंधे पर भाई के,
   पैर में चोट का बहाना बनाना,
       कुछ दूर चलकर फिर,
     वो उसका दौड़ कर जाना,
अंगूठा और जीभ दिखा-दिखा कर,
     वो उसका भाई को चिढ़ाना,
लड़ना-झगड़ना फिर हमेशा वो उसके रूठने पर,
           भाई का प्यार से उसको मनाना ,
       पकड़ कर कान फिर दोनों,
        भाई का उठा-बैठक लगाना,
रूठ कर मनाने का वो एहसास बाकी है,
    भाई को बहन का साथ काफी है,
           वो उसके साथ का,
    एक अनोखा एहसास काफी है.......||2||
                    बहन के हाथों से
 जब भाई की कलाई पर राखी बाँधी जाती है,
          मांग वचन जब अपने होने का,
            भाई पर अधिकार जताती है,
   जो हँसकर-रोक…

Father's day / पिता............. एक अहसास !

Image
पिता..................! मेरे पापा....
 उन्होनें मुझे हमेशा एक अच्छा निर्णायक बनने मे मदद कि वो हमेशा चाहते है कि अपने जीवन मे एक अच्छा निर्णायक बनु ताकि बुलन्दी की उस मंजिल पर पहँच सकूँ जहां से दुनिया छोटी नजर आये। परन्तु इतना ऊपर जाने से हमेसा राके रखा कि मैं दुनिया को भूल जाऊँ। उन्होने हमेशा अहसास कराया कि जीवन में हमारा लक्ष्य सदा ही आगे बढना होना चाहिए न कि किसी को नीचे गिराना। वो मुझे हमेसा अपने पास बैठा कर समझाया करते है कि कब क्या करना है क्या नही करना है या युँ कहें कि एक तरह से मेरी इच्छाओं पर पाबंदी लगाते है। उस समय ये पाबंदी मुझे किसी सजा से कम न लगती थी। लेकिन मैं जब भी कुछ करने मे असहज महसूस करता हुँ, उस समय उनकी सिखायीं हुईं बाते मुझे हमेसा आत्मविश्वास और उनके साथ होने का अहसास दिलाती है। मैं जब भी किसी प्रतियोगिता को जीत कर आता तो उसकी खुशी शायद मेरे पापा से ज्यादा किसी को न होती थी। उनका साथ होने से मैं कभी हार कर भी नही हारता हुँ, क्योंकि उन्होने मुझे हार मे जीत की अद्भुत कला जो सिखा दी। वो मुझे छोटी-छोटी गलतियों पर हमेशा डांट करते है। परन्तु एक पापा ही है जो हमारे लिय…